वीडियो : सावन की पहली सोमवारी पर शिव मंदिरों में उमड़ा आस्था का जनसैलाब ..

भक्तों ने रामरेखा घाट स्थित उत्तरायणी गंगा से गंगा जल लेकर विभिन्न शिव मंदिरों को प्रस्थान किया और बाबा भोलेनाथ को जलार्पण किया. रामेश्वर नाथ मंदिर के मुख्य पुजारी ने बताया कि तकरीबन 10 लाख श्रद्धालु गंगा जल लेकर रामेश्वर नाथ मंदिर तथा ब्रह्मेश्वर नाथ मंदिर के लिए प्रस्थान कर चुके हैं.






- सावन की पहली सोमवारी को लेकर रामेश्वर नाथ ब्रह्मेश्वर नाथ नाथ बाबा मंदिर समेत तमाम शिवालयों में पहुंचे शिव भक्त
- सुरक्षा के किए गए हैं व्यापक इंतजाम, तीसरी आंख भी कर रही निगहबानी

बक्सर टॉप न्यूज, बक्सर : संक्रमण काल के पश्चात एक बार फिर सावन की पहली सोमवारी को विभिन्न शिवालयों में शिव भक्तों की खासी भीड़ उमड़ पड़ी है. लोग बाबा भोलेनाथ को जलार्पण कर विश्व कल्याण की कामना करते देखे जा रहे हैं. बक्सर के रामरेखा घाट स्थित रामेश्वर नाथ मंदिर, ब्रह्मपुर के बाबा ब्रह्मेश्वर नाथ मंदिर, नाथ बाबा मंदिर के साथ-साथ छोटका नुआंव स्थित भागवान भोलेनाथ के मंदिर में सुबह 4:00 बजे से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है. भक्तों ने रामरेखा घाट स्थित उत्तरायणी गंगा से गंगा जल लेकर विभिन्न शिव मंदिरों को प्रस्थान किया और बाबा भोलेनाथ को जलार्पण किया. रामेश्वर नाथ मंदिर के मुख्य पुजारी ने बताया कि तकरीबन 10 लाख श्रद्धालु गंगा जल लेकर रामेश्वर नाथ मंदिर तथा ब्रह्मेश्वर नाथ मंदिर के लिए प्रस्थान कर चुके हैं.



सुरक्षा के किए गए हैं व्यापक इंतजाम, भारी वाहनों का प्रवेश निषेध :

प्रशासन के द्वारा सावन की पहली सोमवारी को लेकर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं. बक्सर के रामरेखा घाट स्थित रामेश्वर नाथ मंदिर में भारी संख्या शिव भक्तों के आगमन को देखते हुए मॉडल थाना चौक से रामरेखा घाट जाने वाले मार्ग पर दोपहिया वाहनों का भी प्रवेश प्रतिबंधित है वहीं ब्रह्मपुर में बाबा ब्रह्मेश्वर नाथ मंदिर जाने वाले मार्ग पर भी भारी वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है. इसके अतिरिक्त दोनों शिव मंदिरों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं ताकि असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर नजर रखी जा सके. चप्पे-चप्पे पर पुलिस के द्वारा निगरानी की जा रही है. 

मंदिर में रेलिंग लगाकर श्रद्धालुओं को किया जा रहा कतारबद्ध :

बाबा रामेश्वर नाथ मंदिर में शिव भक्तों की बढ़ती हुई भीड़ को देखते हुए रेलिंग लगाई गई है ताकि सभी कतारबद्ध होकर बाबा रामेश्वर नाथ को जलार्पण कर सके. रामेश्वर नाथ मंदिर न्यास ट्रस्ट के हरिशंकर गुप्ता बताते हैं कि श्रावण मास में श्रद्धालुओं की बढ़ती भीड़ के मद्देनजर न सिर्फ सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं बल्कि, शिव भक्तों की सुविधा का भी पूरा-पूरा ख्याल रखा गया है.

रविवार से ही रामरेखा घाट पर उमड़ी शिव भक्तों की भीड़ :

बक्सर के रामरेखा घाट पर उत्तरायणी गंगा से जल लेकर श्रद्धालु विभिन्न शिव मंदिरों में रवाना होते हैं. बाबा ब्रह्मेश्वर नाथ मंदिर की तकरीबन 40 किलोमीटर की दूरी श्रद्धालु बक्सर से जल लेकर पैदल ही तय करते हैं, जिसके लिए रविवार को रामरेखा घाट पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी थी. लोगों ने रामरेखा घाट से ब्रह्मेश्वर धाम के लिए प्रस्थान किया. इसके पूर्व उन्होंने रामरेखा घाट पर त्रेतायुग में भगवान श्री राम के द्वारा स्थापित रामेश्वर नाथ महादेव को भी जलार्पण किया.

वीडियो : 


















Post a Comment

0 Comments