पंडित मदन मोहन मालवीय के शिक्षा में योगदान पर हुई चर्चा ..

बताया कि महामना के मानस पुत्रों का एक परिवार के रूप में जुड़े रहना महामना की देन है और हम गौरवशाली हैं जो उनके बनाएं शिक्षा के मंदिर में शिक्षा ग्रहण करने का सौभाग्य प्राप्त किया. 




- सहयोग समाजसेवी संस्था ने मेधावी विद्यार्थियों को किया सम्मानित
- बीएचयू के पूर्व छात्रों ने भी की महामना के व्यक्तित्व व कृतित्व की चर्चा

बक्सर टॉप न्यूज़, बक्सर: काशी हिंदू विश्वविद्यालय के संस्थापक पंडित मदन मोहन मालवीय की 159 वीं जन्म जयंती पर सहयोग समाजसेवी संस्था के द्वारा स्थानीय मठिया रोड स्थित बालिका उच्च विद्यालय के प्रांगण में संस्था के अध्यक्ष जितेंद्र मिश्रा की अध्यक्षता में एक भव्य समारोह आयोजित किया गया. कार्यक्रम में हर वर्ष की तरह इस बार भी स्मारिका विमोचन किया गया. समारोह का उद्घाटन सदर विधायक संजय कुमार तिवारी एवं राजपुर विधायक विश्वनाथ राम के द्वारा किया गया. मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश से पहुंचे राजीव उपाध्याय तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉ. रणविजय पाठक तथा डॉ आशुतोष कुमार सिंह उपस्थित रहे. मौके पर मेधावी विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया.


कार्यक्रम में अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष सूबेदार पांडेय, प्रभाकर मिश्रा, धनु लाल प्रेमातुर, बासुकी तिवारी, विजय वर्मा, दीप नारायण सिंह, सत्येंद्र लाल, साधना पांडेय, रामेश्वर प्रसाद वर्मा, पवन नंदन सरस्वती, कुमार नयन, डॉ. रामानंद तिवारी, मुकेश ओझा, चंद्रभूषण ओझा, संतोष ओझा, बिनोधर ओझा, सुरेश मिश्रा, ओम जी मिश्रा, पुष्पा तिवारी समेत कई लोग मौजूद रहे.


बीएचयू के पूर्व छात्रों द्वारा पंडित मालवीय के जीवन दर्शन पर विस्तार से चर्चा की गयी. इस मौके पर 1966 के बीएचयू लॉ के पहले बैच के पास आउट अधिवक्ता आनन्द मोहन उपाध्याय ने महामना के तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन किया. उन्होंने महामना के शिक्षा के क्षेत्र में किए गए विशेष योगदान पर प्रकाश डाला. उन्होंने कहा कि हम ख़ुशक़िस्मत हैं जो महामना की बगिया में शिक्षा ग्रहण करने का मौक़ा मिला. पूर्व छात्र डॉ.शशांक शेखर ने विश्वविद्यालय के दिनों को याद करते हुए कहा कि पूर्वांचल के ये सौभाग्य रहा है कि बीएचयू की स्थापना महामना ने बनारस में की. विधि संकाय के पूर्व छात्र भार्गव प्रदीप चौबे ने बताया कि महामना के मानस पुत्रों का एक परिवार के रूप में जुड़े रहना महामना की देन है और हम गौरवशाली हैं जो उनके बनाएं शिक्षा के मंदिर में शिक्षा ग्रहण करने का सौभाग्य प्राप्त किया. रेडक्रॉस के सचिव डॉ. श्रवण कुमार तिवारी ने कहा कि उच्च शिक्षण से जिन्हें भी लगाव होगा उनके लिए महामना आदर्श हैं.

कार्यक्रम के संयोजक स्नेहाशीष वर्धन ने बताया कि काशी हिंदू विवि के पूर्व छात्र जो बक्सर में हैं उनके द्वारा इस कार्यक्रम की पिछले वर्ष से शुरुआत की गयी है, धीरे धीरे महामना के मानस पुत्र जुड़ेंगे और कार्यक्रम को विस्तार दिया जाएगा. कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पूर्व छात्र राहुल आनंद, चंदन चौबे, राम प्रतीक चौबे सहित अनिल उपाध्याय, चंदन कुमार, प्रवीण पाण्डेय, आशीष राय,आशीष चौरसिया, राहुल शर्मा, गोपाल शर्मा, आदि उपस्थित रहें.
















Post a Comment

0 Comments